Categories
अयोध्या लाइव अपडेट

ज्ञानवापी मस्जिद में चल रहे सर्वे के दरमियान विशालकाय शिवलिंग मिलने की सूचना के बाद अयोध्या के संतों ने अपनी प्रतिक्रिया दी

ज्ञानवापी मस्जिद में चल रहे सर्वे के दरमियान विशालकाय शिवलिंग मिलने की सूचना के बाद अयोध्या के संतों ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी संत समाज ने माना था कि ज्ञानवापी सनातन धर्मावलंबी के धार्मिक स्थल है और इस मामले पर अब मुस्लिम समाज के लोगों को बड़ा ह्रदय दिखाते हुए अपना कदम पीछे खींचना चाहिए कि इस पूरे मामले पर जल्द ही फैसला हिंदुओं के पक्ष में दिया जाए अब विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है।

विश्व हिंदू परिषद के प्रांतीय मीडिया प्रभारी शरद शर्मा ने कहा कि शिवलिंग का मिलना हमारे संकल्पों की सिद्धि है इतिहासकारों ने बताया है कि सिंगार गोरी के साथ विशाल शिवलिंग ज्ञानव्यापी में है जिसकी पूजा अर्चना होती रही है औरंगजेब ने इस ढांचे में बदलाव किया जिसके कारण शिवलिंग तहखाने में रह गया जो आज वजू के स्थान पर मिला है शरद शर्मा ने कहा कि जिस तरीके से 1949 में भगवान राम लला प्रकट हुए थे उसी तर्ज पर आज शिवलिंग जो प्रकट हुआ है इसको देखा जाना चाहिए क्योंकि ज्ञानवापी मस्जिद में इस शिवलिंग को काफी लंबे समय से छुपा के रखा गया गोल्ड के द्वारा जांच कमेटी गठित कर सर्वे कराया जाना यह बहुत ही सुखद संयोग रहा जिस तरह से और रामलला का निर्णय आया और रामलला स्थापित हुए अपने स्थान पर उसी तरह काशी विश्वनाथ और कृष्ण जन्मभूमि की मुक्ति होनी चाहिए क्योंकि यह सनातन धर्मावलंबियों के स्थल पर विदेशी आक्रांताओं के द्वारा खड़े किए गए स्थल हैं सिंगार गौरी और प्रकट हुए शिवलिंग इस बात के प्रमाण हैं कि हमारे विश्वास सिद्ध हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *