Categories
आजमगढ पॉलिटिकल लाइव अपडेट

आजमगढ़ लोकसभा सीट पर ‘निरहुआ’ होंगे भाजपा के उम्मीदवार, रामपुर सीट से घनश्याम लोधी मैदान में

भाजपा ने यूपी में लोकसभा की दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव के लिए उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। आजमगढ़ सीट पर भोजपुरी फिल्म अभिनेता दिनेश लाल यादव निरहुआ उम्मीदवार होंगे। वह 2019 के लोकसभा चुनाव में भी इसी सीट से लड़े थे पर अखिलेश यादव से हार गए थे। वह फिर से मैदान में हैं। भाजपा ने रामपुर लोकसभा सीट पर घनश्याम लोधी को उम्मीदवार बनाया है।

घनश्याम लोधी सपा के विधान परिषद सदस्य रह चुके हैं। यूपी विधानसभा चुनाव से पहले वह भाजपा में शामिल हुए थे।

Categories
आजमगढ

सीएम योगी का अखिलेश पर कटाक्ष: आजमगढ़ में बोले- ‘अब तो अब्बाजान भी लगवा चुके, आप भी लगवा लें कोरोना वैक्सीन’

उत्तर प्रदेश के आजमगढ़ जिले के सगड़ी में सोमवार को जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरे फार्म में दिखे। आजमगढ़ सांसद और पूर्व मुख्यमंत्री व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर जम कर व्यंग बाण छोड़े। कोरोना वैक्सीन न लगवाने को लेकर अखिलेश यादव को एक बार फिर लपेटे में लिया।
सीएम योगी ने कहा कि आजमगढ़ के सांसद कोरोना वैक्सीन को भाजपाई और मोदी जी की वैक्सीन बताते थे। बोले- अब तो अब्बा जान भी वैक्सीन लगवा चुके हैं। आप भी लगवा लें। नया वैरिएंट आ गया है। वैक्सीन लगवा लेंगे तो शायद सच बोलने की आदत आ जाएगी। नहीं तो झूठ पर झूठ बोलकर जैसे आजमगढ़ के लोगों को धोखा दे रहे थे वैसे ही प्रदेश के लोगों को भी धोखा दे रहे थे।
सीएम योगी यहीं नहीं रूके। उन्होंने अखिलेश यादव पर कटाक्ष किया कि कोरोना संकट के समय अखिलेश यादव ने आजमगढ़ को लावारिस छोड़ दिया था। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि समाजवादी पार्टी सत्ता में आने के बाद गरीबों, दलितों व व्यापारियों को सता रही थी।
आजमगढ़ इसका भुक्तभोगी था। यहां के लोग कहीं बाहर जाते थे तो उन्हें किसी धर्मशाला में कमरा नहीं मिलता था। आजमगढ़ का नाम सुनते ही होटलों में भी कमरे नहीं मिलते थे। यह संकट उन्होंने ही खड़ा किया था, जिन्होंने कोरोना काल में यहां की जनता को लावारिस छोड़ दिया था। सीएम ने कहा कि कोरोना काल में हम आजमगढ़ में तीन बार आए थे।
उन्होने कहा की याद कीजिए जब समाजवादी पार्टी की सरकार थी तब रामपुर में उस समय मंत्री आजम खां द्वारा गरीबों व अनुसूचितों के घर उजाड़े जाते थे। उस वक्त  कांग्रेस और बसपा मौन थी। तब केवल भारतीय जनता पार्टी आंदोलन कर रही थी।  सत्ताधारी दल का एक मंत्री अराजकता पैदा करे , हमें यह स्वीकार नहीं था। सीएम योगी को सुनने के लिए  सगड़ी विधानसभा स्थित जूनियर विद्यालय के मैदान में भारी संख्या में भीड़ उमड़ी।

यूपी के आजमगढ़ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समाजवादी पार्टी समेत पूरे विपक्ष पर जमकर बरसे। सगड़ी में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में तो अराजकता ही उनका पर्याय था। देश में एक नारा चल पड़ा था कि ‘जिस गाड़ी में सपा का झंडा समझो होगा कोई जाना पहचाना गुंडा’। इस गुंडागर्दी की कमर तोड़ने का कार्य कोई किया है तो वह हमारी सरकार ने किया है।

Categories
आजमगढ

जिस जिले का एसपी ही गुंडा हो फिर उसकी पुलिस कैसी होगी”आजमगढ-से एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे एक युवक को एक खाकी वाला भद्दी भद्दी गालिया दे रहा है

जिस जिले का एसपी ही गुंडा हो फिर उसकी पुलिस कैसी होगी”
आजमगढ-से एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमे एक युवक को एक खाकी वाला भद्दी भद्दी गालिया दे रहा है।
और जब गाली से मन नही भरा तो थप्पड़ बाजी भी कर दिया।
अब आप सोच रहे होंगे कि बिन वजह कोई खाकी वाला किसी पर हाथ कैसे उठा देगा तो आप लोग वजह भी जान लिजिए।
आजमगढ में एक आठ वर्ष बच्ची का बलात्कार होता है जिसको गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया जाता है लेकिन बच्ची की मौत हो जाती है पीड़ित परिवार न्याय मांगने के लिए गुहार लगाता है फिर भी कोई कार्रवाई नही होती फिर लोगो की भीड़ इकट्ठा होती है जहां पर आजमगढ के एसपी साहब अपने पुलिस फोर्स के साथ पंहुचते हैं और देखते देखते साहब का पारा हाई हो जाता है और गाली-गलौज शुरू कर देते हैं।और जब एक युवक गाली का विरोध करता है तो उस पर हाथ भी उठा देते हैं।
साहब को इतना भी खौफ नही होता है कि यहां मीडिया होगी आज के तारीख में एन्ड्रोयड फोन हर किसी के पास है सोशल मीडिया का जमाना है कहीं गल्ती से किसी ने वायरल कर दिया तो मैं बिना किसी प्रचार प्रसार के फेमस हो जाऊंगा।
कोई हवलदार य सिपाही नही बल्की मैं पुलिस अधीक्षक हूं।
लेकिन कहा गया है पावर और पैसा जिसके पास होता है वो अपने आपको सर्वश्रेष्ठ क्या खुद को भगवान समझ लेता है।
लेकिन जनता भगवान से भी हक लेने के लिए न्याय पाने के लिए लड़ जाती है।
खैर एसपी साहब का खबर लगभग सभी टीबी चैनलो पर न्यूज प्रोर्टल यूट्यूब पर चल रहा है।
एक तरफ चुनाव भी नजदीक आ रहा है तो दुसरी तरफ अपराधिक घटनाओ में भी बढ़ोत्तरी होती नजर आ रही है तो वहीं पुलिस भी अपनी मनमानी करने से पीछे नही है यदि उत्तर प्रदेश में ये सिल सिला चलता रहा तो योगी सरकार पर इसका असर नकारात्मक पड़ेगा और विपक्ष को घर बैठे योगी सरकार पर सवाल उठाने का मुद्दा मिलता रहेगा।