Categories
देश विदेश

दिल्ली में मोबाइल स्नैचर्स के हौसले बुलंद और दिल्ली पुलिस प्रशासन सुस्त।

घटना राष्ट्रीय राजधानी के रोहिणी सेक्टर 22 पॉकेट-1 और 2 के मैन रोड कि घटना हैं । घटना शनिवार सुबह की है। बताया जा रहा है कि एक बाइक सवार ने पीड़ित महिला से मोबाईल फोन छीनने की कोशिश की लेकिन महिला के सतर्क रहने की वजह से वह मोबाईल फोन छीनने में नाकाम रहा और उसका संतुलन बिगड़ने की वजह से बाइक से गिर गया । आसपास के लोगों ने शोर मचाया तो वह बाइक छोड़ कर भाग गया । पॉकेट 1-2 के रोड सेफ़्टी ग्रुप ने स्थानीय ठाणे के पुलिस को बुला कर इसकी लिखित शिकायत दर्ज कराई और पुलिस से उचित कार्यवाही की मांग की ।
मोटर साइकिल सवार बदमाश द्वारा महिला को फोन छीनने की कोशिश के दौरान का सीसीटीवी वीडियो पुलिस को दिया । वीडियो में बाइक सवार बदमाश सड़क चल रही महिला का फोन झपटने की कोशिश करता हैं और भागने का प्रयास करता हैं लेकिन उसका संतुलन बिगड़ जाने से गिर जाता हैं और बाइक रोड पर छोड़ कर बाग जाता हैं ।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

बंगाल में युवाओं को लगी अजीबोगरीब लत, नशे के लिए कर रहे कंडोम का इस्तेमाल, जानें

पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर शहर में कंडोम की बिक्री अचानक बहुत बढ़ गई है. दुकानों पर स्टॉक आते ही खत्म हो जा रहा है. दरअसल वहां के कुछ युवा कंडोम का इस्तेमाल नशे के लिए कर रहे हैं. युवाओं में इस नई लत से प्रशासन भी चिंतित है.पश्चिम बंगाल के दुर्गापुर शहर में नौजवानों को इन दिनों एक अजीबोगरीब लत लगी है. कंडोम का नशा. वैसे तो कंडोम असुरक्षित यौन संबंधों से बचाने के काम आता है, लेकिन यहां के युवक इसका इस्तेमाल मादक पदार्थ की तरह कर रहे हैं.

पिछले कुछ दिनों में शहर में कंडोम की बिक्री में भारी इजाफा हुआ है. कई दुकानों पर तो स्टॉक आने के कुछ ही घंटे बाद खत्म हो जा रहा है. नशे के लिए कंडोम के इस्तेमाल से शहर में हर कोई हैरान है. युवाओं में इस नई लत से प्रशासन की भी चिंता बढ़ रही है.

बताया जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों में दुर्गापुर के विभिन्न इलाकों जैसे दुर्गापुर सिटी सेंटर, बिधाननगर, बेनाचिती और मुचिपारा, सी जोन, ए जोन में फ्लेवर्ड कंडोम की बिक्री में भारी वृद्धि हुई है. अचानक इस बढ़ोतरी से हैरान एक स्थानीय दुकानदार ने अपने यहां से बार-बार कंडोम खरीद रहे एक युवक से इसकी वजह पूछी. तो उसने हैरान करने वाला जवाब दिया कि वह नशे के लिए इन्हें खरीदता है. दुर्गापुर के एक मेडिकल स्टोर संचालक ने बताया कि पहले रोजाना कंडोम के 3 से 4 पैकेट ही बिकते थे लेकिन अब पूरे के पूरे पैक बिक रहे हैं.ये युवक कंडोम का नशे के लिए किस तरह इस्तेमाल कर रहे हैं, इसकी जानकारी देते हुए दुर्गापुर के मंडल अस्पताल में काम करने वाले धीमान मंडल ने बताया कि कंडोम में कुछ सुगंधित यौगिक होते हैं. अल्कोहल बनाने के दौरान ये टूट जाते हैं. ये लत लगाने वाले होते हैं. इनसे नशा जैसा महसूस होता है. उन्होंने बताया कि यह सुगंधित यौगिक डेंड्राइट गोंद में भी पाया जाता है. बहुत से लोग डेंड्राइट का भी नशे के लिए इस्तेमाल करते हैं.

दुर्गापुर आरई कॉलेज मॉडल स्कूल केमिस्ट्री के टीचर नूरुल हक ने बताया कि कंडोम को गर्म पानी में लंबे समय तक भिगोने से बड़े कार्बनिक अणु अल्कोहल यौगिक में टूट जाते हैं, जिससे नशा होता है. नशे के लिए अजीबोगरीब चीजों के इस्तेमाल का ये पहला मामला नहीं है. 21वीं सदी के मध्य में नाइजीरिया में टूथपेस्ट और जूते की स्याही की बिक्री अचानक 6 गुना तक बढ़ गई थी. लोग इनका इस्तेमाल नशे के लिए करने लगे थे.

Categories
देश विदेश

नागालैंड के ‘छोटी आंखों’ वाले मंत्री का एक और वीडियो

नागालैंड के ‘छोटी आंखों’ वाले मंत्री का एक और वीडियो  वायरल, अपनी पहली दिल्ली यात्रा से जुड़ी मजेदार कहानी की शेयर
नागालैंड के उच्च शिक्षा और आदिवासी मामलों के मंत्री तेमजेन इम्ना अलॉन्ग इन दिनों काफी सुर्खियों में हैं.
अपनी ‘छोटी आंखों’ वाली टिप्पणी को लेकर वह सोशल मीडिया पर भी खूब ट्रेंड कर रहे हैं. अब उनका एक और वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है, जिसे उन्होंने खुद अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर किया है. इस वीडियो में उन्होंने सालों पहले की अपनी दिल्ली यात्रा से जुड़ी कहानी शेयर की है, जो बड़ी ही मजेदार है. उन्होंने साल 1999 में अपनी पहली दिल्ली यात्रा को याद किया है. एक कार्यक्रम में बोलते हुए वह राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के लोगों की सांस्कृतिक रूप से समृद्ध नागालैंड के बारे में कई गलत धारणाओं के बारे में बात करते हुए दिखाई दे रहे हैं.

उन्होंने कहा, ‘जब मैं पहली बार 1999 में दिल्ली आया और पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर उतरा, तो वहां लोगों की संख्या देखकर मैं चौंक गया. यह संख्या नागालैंड की पूरी आबादी से भी ज्यादा थी. मैं हैरान हो गया था. दिल्ली के अधिकांश लोगों को पता ही नहीं था कि नागालैंड कहां है. वे मुझसे पूछते थे ‘क्या हमें नागालैंड जाने के लिए वीजा की जरूरत है?’.

इस दौरान मंत्री तेमजेन इम्ना ने यह भी याद किया कि उन्हें एक अफवाह के बारे में पता चला कि नागालैंड के लोग इंसानों को खाते हैं. उन्होंने मजाकिया अंदाज में कहा कि ‘मेरी उपस्थिति ने लोगों के संदेह को और मजबूत कर दिया’. उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर वीडियो शेयर करते हुए हिंदी में लिखा है, ‘1999 की और एक बातें…’.
महज 46 सेकेंड के इस वीडियो को अब तक 8 लाख 94 हजार से भी अधिक बार देखा जा चुका है, जबकि 65 हजार से भी अधिक लोगों ने वीडियो को लाइक भी किया है और तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं भी दी हैं.

एक यूजर ने लिखा है, ‘आपको सुनना हमेशा दिलचस्प होता है’, जबकि एक अन्य यूजर ने कमेंट करते हुए लिखा है, ‘हम तो सोचते थे कि नागालैंड और पूर्वोत्तर के लोगों की भाषा उत्तर भारतीयों से अलग होगी, लेकिन जब तेमजेन इम्ना जी का ओजस्वी संबोधन सुना तो अब विश्वास और भी दृढ़ हो गया कि कोहिमा से कन्याकुमारी तक पूरा भारत एक है’. इसी तरह और भी कई यूजर्स ने तरह-तरह के मजेदार कमेंट्स किए हैं.

बीते सप्ताह नागालैंड बीजेपी के अध्यक्ष अलोंगलमना  ने एक कार्यक्रम को सम्बोधित किया । इस दौरान उन्होंने कहा कि लोग कहते हैं कि पूर्वोत्तर के लोगों की आँख छोटी है , लेकिन इससे सब कुछ साफ़ दिखाई देता है .
देखिये ये वीडियो-

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

उदयपुर में नूपुर शर्मा के समर्थक कन्हैया लाल का गला काटा:कपड़े का नाप देने के बहाने आए, हत्या का VIDEO भी बनाया

राजस्थान के उदयपुर में 10 दिन पहले नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट डालने वाले एक शख्स का मर्डर कर दिया गया। हमलावर मंगलवार को दिनदहाड़े उसकी दुकान में घुसे और तलवार से कई वार किए और उसका गला काट दिया। इस पूरे हमले का वीडियो भी बनाया। इतना ही नहीं आरोपियों ने घटना के बाद सोशल मीडिया पर पोस्ट डालकर हत्या की जिम्मेदारी ली है।

उधर, वारदात के विरोध में हाथीपोल, घंटाघर, अश्वनी बाजार, देहली गेट और मालदास स्ट्रीट का बाजार बंद है। शव अब भी दुकान के बाहर ही पड़ा है। मृतक के परिवार वालों ने सरकार से 50 लाख रुपए और सरकारी नौकरी की डिमांड की है।

नाप देने के बहाने दुकान में घुसे

कन्हैयालाल तेली (40) की धानमंडी स्थित भूतमहल के पास सुप्रीम टेलर्स नाम से दुकान है। मंगलवार दोपहर करीब ढाई बजे बाइक सवार 2 बदमाश आए। कपड़े का नाप देने का बहाना बनाकर दुकान में घुसे। कन्हैयालाल कुछ समझ पाते तब तक बदमाशों ने हमला बोल दिया। उन पर तलवार से कई हमले किए। मौके पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया।

FSL टीम मौके पर पहुंची

सूचना पर धानमंडी समेत घंटाघर और सूरजपोल थाने के पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। पुलिस के आला अधिकारी और FSL टीम मौके पर है। टीम ने मौके से सबूत जुटाए।

घटना के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने भी SP को फोन कर घटना की जानकारी ली। उन्होंने निष्पक्ष जांच करते हुए आरोपियों को जल्द पकड़ने की बात कही।

6 दिन नहीं खोली थी दुकान

कन्हैयालाल गोर्वधन विलास इलाके का रहने वाला था। 10 दिन पहले उसने बीजेपी से हटाई गई नुपूर शर्मा के पक्ष में सोशल मीडिया पर पोस्ट की। इसके बाद से समुदाय विशेष के लोग उसे जान से मारने की धमकी दे रहे थे। कन्हैयालाल लगातार धमकियों से परेशान था। 6 दिनों से उसने अपनी दुकान भी नहीं खोली थी। उसने धमकियां देने वालों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने उसे थोड़े दिन संभलकर रहने को कहा, लेकिन आरोपियों की धरपकड़ में गंभीरता नहीं दिखाई।

आधा दर्जन इलाकों में भारी पुलिस बल तैनात

घटना की खबर लगते ही कलेक्टर तारा चंद मीणा, एसपी मनोज चौधरी मौके पर पहुंचे। शव फिलहाल मौके पर ही पड़ा है। परिजन हंगामा कर रहे हैं। खेरवाड़ा से पुलिस की अतिरिक्त टुकड़ियों को बुलाया गया है। शहर के 5 इलाकों में बाजार बंद कर दिए गए हैं। लोग मौके पर प्रदर्शन करने भी पहुंचे हैं।

पुलिस कर रही रिकॉर्ड की जांच

एसपी उदयपुर मनोज चौधरी ने कहा कि सूचना मिलते ही पुलिस को मौके पर तैनात कर दिया गया है। जो भी अपराधी हैं, उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पीड़ित परिवार से बात नहीं हुई है। नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट के बाद मिल रही धमकियों की शिकायत के सवाल पर एसपी बोले कि मृतक से जुड़े सभी रिकॉर्ड की जांच की जा रही है। कुछ आरोपियों की पहचान हुई है।

पुलिस से झड़प

हाथीपोल चौराहे पर कुछ युवाओं और पुलिस की झड़प हुई। भाजपा युवा मोर्चा का एक कार्यकर्ता घायल हो गया है। शांति बहाल करने के लिए पुलिस ने चप्पे-चप्पे को छावनी में तब्दील कर दिया है।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

अज्योर पावर कंपनी के ऑल इंडिया गवर्निंग बॉडी के मेंबर श्री एलेन रॉसलिंग व श्री सुमित बारात तो अज्योर पावर कंपनी के सी एस आर डिपार्टमेंट के चीफ हैं, उन्होंने इन गांव के दौरा किया और यहाँ के लाभार्थियों से मुलाकात की

अज्योर पावर कंपनी सोलर एनर्जी में नामचीन कंपनियों में शामिल है। अज्योर पावर कंपनी के राजस्थान के बीकानेर के गांव जगदेववाला, कस्तूरी गांव व आसपास के अन्य क्षेत्रों में सोलर प्लांट लगे हुए हैं। अज्योर पावर सोलर कंपनी कई वर्षों से इन गांव के विकास के लिए कार्य कर रही हैं। पिछले 5 वर्षों में अज्योर पावर ने इन गांव के लिए काफी विकास के कार्य किये हैं। इन गांव में सिलाई, कढ़ाई, कंप्यूटर, बैंकिंग व सोलर पैनल इंस्टालेशन जैसे कई निःशुल्क कोर्स करवाए गए जिससे वहां के ग्रामीणों को काफी लाभ हुआ। आज वे लोग आत्म-निर्भर हैं और इस ट्रेनिंग के माध्यम से अपना व अपने परिवार का पेट पाल रहे हैं। इन ट्रेनिंग ने उनके लिए रोजगार के कई अवसर खोले हैं। इस ट्रेनिंग का संचालन पी आर एस डी कंपनी के द्वारा अज्योर पावर के मार्गदर्शन में किया गया। अज्योर पावर कंपनी के ऑल इंडिया गवर्निंग बॉडी के मेंबर श्री एलेन रॉसलिंग व श्री सुमित बारात तो अज्योर पावर कंपनी के सी एस आर डिपार्टमेंट के चीफ हैं, उन्होंने इन गांव के दौरा किया और यहाँ के लाभार्थियों से मुलाकात की व उनकी ट्रेनिंग और उनके जीवन में अब क्या बदलाव आया हैं इसके बारे में जाना। लाभार्थियों ने इस कार्यकर्म में बड़े उत्साह से भाग लिया और उनके जीवन में इस ट्रेनिंग से क्या फ़र्क़ आया इसके बारे में अपने अनुभव सांझे किये। जहाँ इस कार्यकर्म में महिलाओं ने अपने जीवन के बेहतर होने की बात की वही पुरुषों ने अपने रोजगार में बड़े इजाफे के बारे में बताया। इस कार्यक्रम में महिलाओं ने उनके स्वागत में रंगारंग कार्यक्रम का आयोजन किया गय। लोगों ने अज्योर पावर कंपनी का इस कदम के लिए दिल से धन्यवाद दिया और अज्योर पावर कंपनी ने भी आगे इसी तरह गांव के विकास के लिए सहयोग के लिए कार्य करते रहने का आश्वासन दिया।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

अज्योर सोलर पावर कंपनी द्वारा राजस्थान जोधपुर डिस्ट्रिक्ट में बाप तहसील के बावड़ी बारासिंघा और कान सिंह की सिड गांव में कौशल प्रशिक्षण केंद्र खोला गया

राजस्थान के भौगोलिक स्थिति और वातावरण से आप लोग परिचित ही होंगे की कैसे ऐसे क्षेत्रों में लोग जहां चारो तरफ रेतों और रेगिस्तानों का घेरा रहता है,गर्मी रहती है कैसे अपना जीवन यापन करते है। अज्योर पावर सोलर कंपनी राजस्थान जोधपुर डिस्ट्रिक्ट में बाप तहसील में काफी वर्षों से सोलर एनर्जी के ऊपर काम कर रही है और साथ-साथ इस क्षेत्र के लोगों के विकास के लिए भी काम कर रही है। अज्योर पावर कंपनी के इस क्षेत्र में बहुत बड़े इलाके में सोलर प्लांट हैं। अज्योर पावर कंपनी इस क्षेत्र में रोजगार देने के साथ-साथ गांव के विकास के लिए भी योगदान करती रही है। इसी कड़ी में अब अज्योर पावर कंपनी द्वारा राजस्थान जोधपुर डिस्ट्रिक्ट में बाप तहसील के बावड़ी बारासिंघा और कान सिंह की सिड गांव में कौशल प्रशिक्षण केंद्र खोला गया है जोकि निशुल्क प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोड़ने और आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में काम करेगा। पीआरएसडी कंपनी द्वारा इस पूरी कार्यक्रम योजना को पूरा किया जाएगा।

इस केंद्र पर सोलर पैनल इंस्टालेशन का स्पेशल कोर्स करवाया जाएगा क्योंकि इस क्षेत्र में इसकी आवश्यकता सबसे अधिक है और यह ट्रेनिंग यहाँ के निवासियों के लिए रोजगार के एक अच्छा साधन बन सकती है। इस सेंटर के उद्घाटन के मौके पर प्रशिक्षण लेने वाले अभ्यर्थी के अलावा अज्योर पावर सोलर कंपनी के सी एस आर के अधिकारी श्री सुमित बारात, सेफ्टी डिपार्टमेंट के अधिकारी श्री कुलदीप जी, कान सिंह की सिड गांव के सरपंच श्री कृष्ण पाल जी व गांव के अन्य प्रभावशाली लोग और पीआरएसडी कंपनी के डायरेक्टर श्री शिवधर दुबे के साथ श्री अमित सागर, श्री प्रवीण गर्ग, कॉर्डिनेटर अतुल शुक्ला, पवन कुमार, अखिलेश सिंह भी शामिल हुए और लोगो को प्रोत्साहित और मार्गदर्शित किया। यह ट्रेनिंग 8 महीने तक चलेगी जिसमे 6 महीने की ट्रेनिंग सेंटर पर होगी व 2 महीने की ट्रेनिंग सोलर प्लांट पर दी जायेगी।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

भीषण अग्निकांड में 27 की मौत, 50 से ज्यादा को बचाया गया, अब भी कई लोग लापता, तलाश जारी

मुंडका इलाके में शुक्रवार शाम एक तीन मंजिला इमारत में भीषण आग लग गई। इस हादसे में 27 लोगों की मौत हो गई। 50 लोगों को सुरक्षित निकाला गया है। घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायलों की संख्या 12 बताई गई है। हादसे में दमकल विभाग के दो कर्मियों की भी मौत हुई है। कई लोग अभी भी इमारत में फंसे हुए हैं। कई लोग लापता बताए जा रहे हैं। उनकी तलाश जारी है।

घायलों को ग्रीन कॉरिडोर बनाकर संजय गांधी अस्पताल भेजा गया। मौके पर पहुंचीं दमकल की 30 गाड़ियां आग बुझाने में जुटी रहीं। प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर संवेदना व्यक्त की है। देर रात आग पर काबू तो पा लिया गया लेकिन अभी भी धुएं के गुबार और मलबे में लापता लोगों की तलाश जारी हैं। दमकल विभाग के अधिकारी सतपाल बारद्वाज ने बताया कि कोई और शव नहीं मिला है।

इसके अलावा पुलिसकर्मी भी बचाव कार्य में जुटे हुए हैं। इमारत में कई कंपनियों का कार्यालय और फैक्टरी है। आग लगने के बाद इन कार्यालय में काम करने वाले काफी लोग इमारत में फंस गए। हादसे में मारे गए लोगों के परिजनों को प्रधानमंत्री राहत कोष से 2 लाख रुपए दिए जाएंगे और जो घायल हुए हैं उन्हें 50 हजार रुपए प्रदान किए जाएंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी ट्वीट में यह जानकारी दी गई है।

सूचना मिलते ही पुलिस और दमकल कर्मी मौके पर पहुंचे और स्थानीय लोगों की मदद से राहत और बचाव का काम शुरू किया गया। राहत बचाव में लगे कर्मियों ने रस्सी की मदद से आग की लपटों के बीच घिरी इमारत में फंसे करीब 60 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाला। इमारत में कई लोगों के फंसे होने की आशंका है। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि आग बुझने के बाद सर्च अभियान चलाया जाएगा। इसके बाद ही स्थिति साफ हो पाएगी। आग पर काबू करने के बाद ही आग लगने के सही कारणों का पता चल पाएगा। दिल्ली पुलिस ने बिल्डिंग के मालिकों हरीश गोयल और वरुण गोयल को हिरासत में ले लिया है।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शुरुआती जांच में पता चला है कि आग इमारत की पहली मंजिल से शुरू हुई। जहां पर सीसीटीवी कैमरों और राउटर निर्माण कंपनी का कार्यालय है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि शुक्रवार शाम करीब 4.45 बजे मुंडका के तीन मंजिला व्यवसायिक इमारत में आग लगने की जानकारी मिली। इस इमारत में कई कंपनियों के कार्यालय हैं। आग लगने के दौरान इन कार्यालय में काफी लोग मौजूद थे। कुछ ने आग लगते ही वहां से भागने की कोशिश की लेकिन ज्यादातर लोग आग में फंस गए।

पहली मंजिल पर लगी आग तुरंत ऊपर की मंजिलों में फैल गई। इमारत से आग की लपटें निकलने लगीं। आग लगने की सूचना मिलते ही पुलिस और दमकल कर्मी मौके पर पहुंचे और राहत बचाव का काम शुरू कर दिया। इससे पहले स्थानीय लोग भी लोगों को बचाने का प्रयास कर रहे थे। पुलिस कर्मियों ने इमारत की खिड़कियां तोड़कर वहां फंसे करीब 60 लोगों को रस्सी की मदद से बाहर निकाला, जिसमें से आठ लोग आग की चपेट में आकर मामूली रूप से झुलस गए थे। पुलिस ने घायलों को पास के अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि आग को नियंत्रित कर लिया गया है।

Categories
देश विदेश

लक्षद्वीप-इंडिया का मालदीव

लक्षद्वीप – एक अवलोकन

अरब सागर में 36 द्वीपों की एक श्रृंखला, लक्षद्वीप समुद्र से प्यार करने वाले किसी भी व्यक्ति के लिए एक सम्पूर्ण घूमने का स्थान है। 1956 से लक्षद्वीप, मिनिकॉय और अमीनदीवी द्वीप समूह के रूप में जाना जाता है जब यह एक केंद्र शासित प्रदेश बन गया, लक्षद्वीप का नाम बदलकर 1973 में एक संसदीय अधिनियम के बाद अस्तित्व में आया। द्वीप पारिस्थितिक रूप से मालदीव के द्वीपों के समान हैं जिनमें प्रवाल भित्तियाँ, प्रवाल द्वीप, लैगून और अदूषित समुद्र तट शामिल हैं। कवरत्ती का मुख्य प्रशासनिक द्वीप कोच्चि के पश्चिम में लगभग 400 किलोमीटर है, और अधिकांश द्वीप मुख्य भूमि भारत से 220 से 450 किलोमीटर की सीमा के भीतर हैं। 2011 की पिछली जनगणना के अनुसार इस शांत द्वीपसमूह में केवल 11 द्वीप ही बसे हुए हैं। कई द्वीप केवल रेत की सलाखों और एटोल हैं, जिनमें ताजे पानी का कोई स्रोत नहीं है। ऐसा ही एक द्वीप पराली 1 कहा जाता है जो अब समुद्र के कटाव के कारण जलमग्न चट्टान है।

द्वीपों को तीन समूहों में बांटा गया है, अर्थात् अमिनिदिवि, लक्काडिव और मिनिकॉय। अमिनिदिवि में चेतलाल, किल्टन और कदमत द्वीप शामिल हैं। कदमत अपने स्कूबा डाइविंग स्थलों के लिए जाना जाता है, और उन कुछ द्वीपों में से एक है जहां रिसॉर्ट हैं। द्वीपों का लक्षद्वीप समूह सबसे बड़ा है जिसमें प्रमुख द्वीप एंड्रोथ, कवरत्ती, अगत्ती और बंगाराम हैं। जबकि 10,720 निवासियों के साथ एंड्रोथ द्वीप सबसे बड़ा है, कवरत्ती लक्षद्वीप केंद्र शासित प्रदेश की राजधानी है। अगत्ती में यूटी में एकमात्र हवाई अड्डा है, और बंगाराम एक रिसॉर्ट द्वीप है। मालदीव के करीब द्वीपों के सबसे दक्षिणी में मिनिकॉय क्लस्टर हैं । सभी पर्यटकों, भारतीय और अंतर्राष्ट्रीय, को लक्षद्वीप की यात्रा पर जाने के लिए परमिट की आवश्यकता होती है। इन परमिटों की व्यवस्था लक्षद्वीप टूर पैकेज बेचने वाले अधिकृत एजेंटों द्वारा की जा सकती है।

लक्षद्वीप का इतिहास

संस्कृत में लक्षद्वीप का अर्थ है एक लाख द्वीप। पुरातात्विक खोज बौद्ध धर्म की ओर प्राचीन अतीत में द्वीपवासियों का विश्वास होने की ओर इशारा करती है। हालांकि, स्थानीय परंपराओं ने केरल के चेरा वंश के राजा – चेरामन पेरुमल की अवधि में पहले बसने वालों को नीचे रखा। ऐसा माना जाता है कि वह कुछ स्रोतों के अनुसार अरब व्यापारियों के प्रभाव में हिंदू धर्म से इस्लाम में परिवर्तित हो गया। जल्द ही वह कोच्चि के पास क्रैंगानोर या कोडुंगलोर से मक्का की तीर्थ यात्रा के लिए निकल पड़े। राजा कभी नहीं लौटा। खोजी दलों को नौकायन नौकाओं में भेजा गया था, जिनमें से एक बांगरम द्वीप के तट पर जहाज को नष्ट कर दिया गया था। अन्य नावों ने भी इन द्वीपों पर जाप किया, और कई लोगों ने इन द्वीपों को अपना नया घर बनाने का फैसला किया। अमिनी, कवरत्ती, एंड्रोट और कल्पेनी के द्वीप जल्द ही बसे हुए थे। इन लोगों को समय पर उबैदुल्ला नाम के एक श्रद्धेय संत ने इस्लाम में परिवर्तित कर दिया था, जो जेद्दा से इन तटों पर उतरे थे। शुरू में उनके उपदेशों का विरोध हुआ लेकिन उन्होंने जल्द ही लोगों को नए धर्म को अपनाने के लिए राजी कर लिया। इस्लाम, आज, लक्षद्वीप का मुख्य धर्म है, जिसका 96% से अधिक पालन करते हैं। उबैदुल्ला को एंड्रोट पर द्वीप में दफनाया गया है।

चोल – तमिलनाडु के पावरहाउस सीफेयरिंग राजवंश ने 11 वीं शताब्दी में इन द्वीपों पर अधिकार कर लिया था। समुद्री व्यापार मार्ग पर होने के कारण ये द्वीप एक इनामी संपत्ति थे। चोलों से यह उत्तर केरल के कन्नूर राज्य में चला गया। इसलिए मप्पिलास के साथ सांस्कृतिक संबंध महत्वपूर्ण है। पुर्तगालियों, टीपू सुल्तान और अंग्रेजों ने बाद में इस पर शासन किया जब तक कि यह स्वतंत्रता के समय भारतीय संघ का हिस्सा नहीं बन गया।

लक्षद्वीप की संस्कृति

मलयालम, तमिल और अरबी शब्दों की की मिलीजुली भाषा झनजरि बोली जाती हैं जो यंहा की लोकल भाषा हैं लेकिन ऑफिसियल भाषा मलयालम हैं, लक्षद्वीप और अमिनदीवी के उत्तरी द्वीप समूहों में बोली जाती है, जबकि मिनिकॉय का दक्षिणी समूह मालदीव की भाषा धिवेही की महल बोली बोलता है। अधिकांश आबादी में उत्तरी केरल के मप्पिला समुदाय के साथ समानताएं हैं, और कई सामाजिक-सांस्कृतिक प्रथाएं हैं जो उनके हिंदू वंश में वापस आती हैं। अन्य सामाजिक समूहों के बीच कई नंबूदिरी ब्राह्मण और नायर इन तटों पर बस गए। द्वीपों में मातृवंशीय जीवन शैली इस पुराने जाति संबंध की ओर इशारा करती है। माता के पारिवारिक पक्ष के साथ नातेदारी एक मानक सामाजिक प्रथा है। दो लोकप्रिय लोक नृत्यों कोलकली और परीचकली द्वीपों के लक्षद्वीप और अमीनदीवी समूह में समुदाय को एक साथ लाते हैं, जबकि मिनिकॉय के लोग लावा नामक एक नृत्य रूप के आसपास एकत्र होते हैं। इन छोटे पृथक समुदायों के लिए, परंपराएं और रीति-रिवाज जीवन में एक बड़ी भूमिका निभाते हैं। अपने ट्रैवल प्लानर से अपनी रुचि के अनुसार लक्षद्वीप हॉलिडे पैकेज डिजाइन करने के लिए कहें, जो उदाहरण के लिए वाटर स्पोर्ट्स के इर्द-गिर्द घूम सकता है और स्थानीय संस्कृति को देख सकता है।

लक्षद्वीप में स्कूबा डाइविंग

लक्षद्वीप के आसपास का साफ पानी शानदार स्कूबा डाइविंग के अवसर प्रदान करता है। अगत्ती, बंगाराम, मिनिकॉय और कदमत गोताखोरी के लिए कुछ प्रमुख द्वीप हैं। यहां कई प्रमुख प्रमाणित गोता उद्यमों के संचालन के साथ, इन द्वीपों को उन्नत गोताखोरों और खेल के लिए नए शौक दोनों के लिए तैयार किया गया है। बंगाराम से जहाज का मलबा, प्रवाल भित्तियों के भीतर ढेर सारे समुद्री जीवन, लगभग 30 फीट पानी के भीतर की दृश्यता – दुनिया में कुछ बेहतरीन गोता लगाने की स्थिति प्रदान करते हैं। अगत्ती द्वीप पर डाइवलाइन देखें। गोता लगाना गोताखोरों के स्थान और प्रशिक्षकों की विशेषज्ञता के आधार पर 3000 रुपये से 5000 रुपये के बीच कहीं भी खर्च हो सकता है। यह पूरी तरह से सुरक्षित है, और किसी को तैराकी कौशल की आवश्यकता नहीं है। शुरुआती लोगों के लिए, प्रशिक्षक भी हाथ पकड़ते हैं और पानी के नीचे के अनुभव के माध्यम से आपका मार्गदर्शन करते हैं।

लक्षद्वीप घूमने का सबसे अच्छा समय

दिसंबर और जनवरी है, हालांकि अक्टूबर से मार्च बड़ा यात्रा का मौसम है। पानी शांत है, वायुमंडलीय स्थितियां सुखद हैं, और यह उच्च पानी के नीचे दृश्यता के कारण स्कूबा गोताखोरों के लिए भी सबसे अच्छा समय है। ग्रीष्म ऋतु से मानसून के महीनों के दौरान कम मौसम होता है, जब मौसम बहुत आर्द्र हो जाता है और पानी तड़का हुआ होता है। अक्टूबर-नवंबर के दौरान पूर्वोत्तर मानसून द्वीपों से टकराता है और बारिश हो सकती है, लेकिन जून-जुलाई में दक्षिण-पश्चिम मानसून की तरह तीव्र नहीं।

कैसे पहुंचे लक्षद्वीप?

द्वीपों की एक श्रृंखला होने के कारण, लक्षद्वीप तक केवल हवाई या जल परिवहन द्वारा पहुँचा जा सकता है। केरल में कोच्चि शहर द्वीपों की ओर जाने वाले पर्यटकों का केंद्र है। लक्षद्वीप के एकमात्र हवाई अड्डे अगत्ती द्वीप के लिए दैनिक उड़ानें संचालित करता है। अगत्ती से आसपास के कई द्वीपों जैसे कवारत्ती, बंगाराम, कदमत आदि के लिए नाव स्थानान्तरण है। अगत्ती से कवारत्ती में प्रशासनिक मुख्यालय के लिए हेलीकाप्टर सेवा उपलब्ध है। कुछ द्वीपों को समुद्री विमानों से जोड़ने का भी प्रस्ताव है। हालांकि, जहाज विभिन्न द्वीपों तक पहुंचने का सबसे लोकप्रिय तरीका है। कोच्चि से 450 किलोमीटर के भीतर स्थित, उन्हें इन द्वीपों तक पहुंचने में 14 से 18 घंटे लगते हैं। सात यात्री जहाज हैं – एमवी कवरत्ती, एमवी अरब सागर, एमवी लक्षद्वीप सागर, एमवी लैगून, एमवी कोरल, एमवी अमिनदीवी और एमवी मिनिकॉय जो कोच्चि और द्वीपों के बीच संचालित होते हैं। वे विभिन्न वर्ग खंडों में आते हैं: दो बर्थ केबिन के साथ वातानुकूलित प्रथम श्रेणी, चार बर्थ के साथ वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी, वातानुकूलित पुश बैक सीटें। आपात स्थिति के लिए प्रत्येक जहाज में एक डॉक्टर हमेशा कॉल पर उपलब्ध रहता है। अनुकूल मौसम के दौरान उच्च गति वाले कटमरैन भी काम करते हैं। मालदीव के पास मिनिकॉय द्वीपों की यात्रा करने के इच्छुक पर्यटकों के लिए कोच्चि से समुद्री मार्ग ही एकमात्र विकल्प है।

इसके अलावा, सुनिश्चित करें कि आपके पास विमान या जहाज पर चढ़ने से पहले एक विशेष परमिट है। आप इसे सोसाइटी फॉर प्रमोशन ऑफ नेचर टूरिज्म एंड स्पोर्ट्स के साथ पंजीकृत एक ऑपरेटर के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं, जो लक्षद्वीप में पर्यटन को संभालने वाली एक नोडल सरकारी संस्था है।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

रोहिणी सेक्टर 22 के पॉकेट 1 से कार का शिशा तोड़ कर चोरी, शिकायत दर्ज

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली में चोरों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है. आलम यह हो गया है कि हाईटेक हो चुकी दिल्ली पुलिस को ठेंगा दिखाते हुए अब चोर भी हाईटेक होते जा रहे हैं. शायद इसी का परिणाम है कि चाहे रात के अंधेरे की बात हो या फिर दिन के उजाले की चोर खुलेआम बेख़ौफ होकर चोरी की वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं।

ऐसा ही मामला दिल्ली के अमन विहार थाना क्षेत्र से सामने आया है. जानकारी के अनुसार रोहिणी पॉकेट 1 के मेन रोड पर खड़ी गाड़ी का शीशा तोड़ दिया गया और  गाड़ी में म्यूजिक सिस्टम और स्टैपनी निकाल ली गई चोरों के हौसले इतने बुलंद हो  रहे हैं कि चलती रोड पर भी घटना हो रही हैं। इसके अलावा पॉकेट 3 में भी कल किसी की गाड़ी का शीशा तोडा गया था । ऐसी घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती रहेगी क्यूंकि चोरों के हौसले बुलंद हैं। यंहा के सभी स्थानीय नागरिको  ने पुलिस से उचित कार्यवाही करने पर जोर दिया।  चोर अंधेरे में हाईटेक हो चुके चोर जीपीएस से लैस गाड़ी को चुरा कर फरार हो जाते हैं. हालांकि वारदात के बाद पीड़ित परिवार ने पुलिस को शिकायत कर दी गई है, लेकिन अभी तक पुलिस के हाथ खाली ही है।

भले ही इस मामले की शिकायत पुलिस को कर दी गई है, लेकिन इस वारदात ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि हाइटेक हो चुके चोर के आगे पुलिस की नई टेक्नॉलोजी भी नाकाम साबित हो रही है. साथ ही इस वारदात के बाद यह भी जाहिर हो गया है कि बदमाशों के अंदर कानून का डर समाप्त हो गया है, क्योंकि रोहिणी जैसे पॉश इलाके में चोरी की वारदात पुलिस पर भी सवालिया निशान खड़े कर रहा है।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

विधायक जुनेजा ने किया डामरीकरण कार्य का भूमि पूजन

छत्तीसगढ़ हाउसिंग बोर्ड के अध्यक्ष एंव रायपुर उत्तर विधायक कुलदीप सिंग जुनेजा अपने विधानसभा क्षेत्रों में डामरीकरण का कार्य करवा रहे हैं। इसी कड़ी में उन्होंने अनुपम नगर क्षेत्र में जहां जहां की सडकें खराब है वहा डामरीकरण का कार्य के लिए भूमि पूजन कर कार्य प्रारम्भ करवाया गया । क्षेत्र के नागरिकों ने विधायक कुलदीप सिंग जुनेजा के प्रति आभार व्यक्त किया साथ ही विधायक ने कहा बहुत जल्द जो सडके बच जायेंगी उसे भी पूरा कर लिया गया जायेगा। इसके पूर्व मे देवेन्द्र नगर, गुरू गोविंद सिंह वार्ड, काशी राम नगर, श्री राम नगर,महात्मा गांधी वार्ड की सडको का कार्य पूर्ण करवाया जा चुका है। इस दौरान प्रमुख रुप से वार्ड पार्षद अमितेष भारद्वाज, पूर्व पार्षद राकेश धोत्रे, एसोसिएशन अध्यक्ष प्रमोद अवस्थि उपाध्यक्ष प्रशांत पांडेय सुदेश कुमार सरीन, आर के शर्मा, प्रेम कक्कड़, बॉबी होरा, सतीश साहू, राधेश्याम अग्रवाल, राहुल अग्रवाल, आर के सतपती, एल एन गुप्ता, गीरीश राठौर आदी उपस्थित थे।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

कर्नाटक के दो ज़िलों में मुसलमान छात्राओं के हिजाब पहनने और इसके विरोध में कुछ युवाओं के भगवा शॉल पहनकर कॉलेज आने को लेकर शुरू हुआ विवाद हिंसक

कर्नाटक के दो ज़िलों में मुसलमान छात्राओं के हिजाब पहनने और इसके विरोध में कुछ युवाओं के भगवा शॉल पहनकर कॉलेज आने को लेकर शुरू हुआ विवाद हिंसक हो गया है. इसे देखते हुए कर्नाटक सीएम बोम्मई ने दिया तीन दिन स्कूल-कॉलेज बंद करने का आदेश दे दिया है
मुख्यमंत्री ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से इस बात की जानकारी दी। उन्होंने छात्रों और स्कूल-कॉलेज प्रबंधन से शांति बनाए रखने की अपील की।

क्या है विवाद?

कर्नाटक में हिजाब पर विवाद की शुरुआत जनवरी महीने में उडुपी शहर से हुई थी। शहर के प्री-यूनिवर्सिटी कॉलेज में 6 छात्राओं को हिजाब पहनने के कारण कक्षा में प्रवेश नहीं दिया गया था। कॉलेज प्रशासन ने इसका कारण ड्रेस में समानता को रखना बताया है। इसके बाद यह विवाद राज्य के कई जिलों में बढ़ता ही चला गया। कई संस्थानों में छात्राओं ने हिजाब पहनकर आना शुरू किया तो इसके विरोध में छात्र भगवा गमछा पहनकर आने लगे।

Categories
देश विदेश

बिजली कड़कने का बना विश्व रिकॉर्ड, 700 किमी तक चमकी और गरजी बिजली

अमेरिका में दुनिया की सबसे लंबी बिजली चमकने का रिकॉर्ड बना है। 768 किलोमीटर के इलाके में यह बिजली चमकी तो अप्रैल 2020 में थी, लेकिन वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गेनाइजेशन (WMO) ने इस रिकॉर्ड की पुष्टि मंगलवार को की।
इसे ‘मेगाफ्लैश’ (Megaflash) नाम दिया गया है, क्योंकि इसने पिछली सारी आसमानी बिजलियों का रिकॉर्ड तोड़ दिया। यह इतनी लंबी थी कि अमेरिका के तीन प्रांतों में नजर आई थी। अमेरिकी मौसम एजेंसी ने मंगलवार को कहा कि संयुक्त राष्ट्र की उक्त मौसम एजेंसी ने इसे विश्व में लंबी बिजली चमकने की घटना करार दिया है। यह अप्रैल 2020 में टेक्सास से लेकर मिसीसिपी तक 768 किलोमीटर या 477 मील तक इलाके में चमकी थी।
वैज्ञानिकों ने उपग्रह प्रौद्योगिकी के जरिए इसका पता लगाया। इससे पिछला रिकॉर्ड 60 किलोमीटर का था, जो पीछे छूट गया। डब्यूएमओ के प्रवक्ता क्लेयर नलिस ने बताया कि यदि हम 768 किलोमीटर की दूरी विमान से तय करें तो करीब डेढ-दो घंटे लगेंगे। लेकिन इस बिजली ने यह दूरी पलक झपकते ही पूरी की। इससे पहले जून 2020 में उरुग्वे और अर्जेंटीना में मैगाफ्लैश चमकी थी। यह करीब 17.1 सेकंड्स तक दिखी थी। गनीमत है कि हाल ही में चमकी ये बिजलियां जमीन पर नहीं गिरीं, वरना भारी तबाही हो सकती थी।

उरुग्वे और अर्जेंटीना से पहले ब्राजील में चमकी बिजली देश को बीच में से आधा बांट रही थी। यह आकाशीय बिजली 709 किलोमीटर तक फैली थी। डब्ल्यूएमओ के अनुसार दो साल पहले अर्जेंटीना में रिकॉर्ड बिजली सबसे लंबे समय तक चमकने वाली बिजली थी। यह 17.1 सेकंड तक चमकती रही थी। बीते दो सालों की पड़ताल के बाद डब्ल्यूएमओ ने इस बिजली को अब तक दुनिया भर में चमकी बिजलियों में सबसे लंबी पाया है।

Categories
देश विदेश

DCW का एसबीआई को नोटिस: बैंक वापस ले अपनी गाइडलाइन, तीन माह से अधिक की गर्भवती को नहीं देता नौकरी

दिल्ली महिला आयोग ने देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया को नोटिस जारी करते हुए उन्हें अपनी भर्ती संबंधी एक गाइडलाइन को वापस लेने के लिए कहा है। इस गाइडलाइन को आयोग ने भेदभावपूर्ण और अवैध करार दिया है।
दरअसल एसबीआई की भर्ती को लेकर एक गाइडलाइन है जिसके अनुसार, बैंक तीन माह से ऊपर की गर्भवती महिलाओं को नौकरी देने से बचता है। इसके पीछे उनका तर्क होता है कि ऐसी महिलाएं अस्थिर रूप से नौकरी के लिए फिट नहीं होतीं।
दिल्ली महिला आयोग ने बैंक की इस गाइडलाइन को भेदभावपूर्ण और अवैध दोनों ही करार दिया है। मालीवाल का कहना है कि कोई बैंक इस तरह के आधार बनाकर किसी महिला को नौकरी से कैसे मना कर सकता है, इसीलिए उन्होंने बैंक को नोटिस भेज इस गाइडलाइन को वापस लेने को कहा है।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू और ऑड-ईवन का नियम खत्म, शादी समारोह में भी ढील; इस प्रकार हैं नए नियम

दिल्ली में कोरोना नियमों को लेकर हुई डीडीएमए की समीक्षा बैठक में वीकेंड कर्फ्यू, बाजारों के लिए ऑड-ईवन नियम खत्म करने का निर्णय लिया गया है। बैठक में मौजूद सूत्रों के हवाले से ये भी खबर है कि दिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू तो खत्म कर दिया गया है लेकिन नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा। दिल्ली में लगातार घटते कोरोना के मामले और कम होती संक्रमण दर को ध्यान में रखते हुए दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक में ये फैसले लिए गए हैं जिनका जल्द ही औपचारिक एलान हो जाएगा। डीडीएमए की इस बैठक की अध्यक्षता दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने की।

गौरतलब है कि दिल्ली में शुक्रवार रात 10.00 बजे से सोमवार सुबह 5.00 बजे तक का वीकेंड कर्फ्यू लगाया जाता था, जो अब नहीं लगेगा। लेकिन हर रोज रात 10.00 बजे से लेकर सुबह 5 बजे तक लगने वाला रात्रि कर्फ्यू जारी रहेगा।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

महिला से सामूहिक दुष्कर्म, बाल काटे और मुंह पर कालिख पोत गलियों में घुमाया

दिल्ली के शाहदरा जिले में गणतंत्र दिवस के दिन एक ऐसी घिनौनी घटना घटी जिसने देश की राजधानी का सिर एक बार फिर झुका दिया है। पुलिस ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ कर रही है।
पुलिस के मुताबिक शाहदरा में आपसी दुश्मनी के चलते एक महिला को अगवा कर चार लोगों ने उसका दुष्कर्म किया। दरिंदे यहीं नहीं रुके इसके बाद उन्होंने महिला के बाल काटे और फिर उसके मुंह में कालिख पोतकर उसे घुमाया भी गया।

पुलिस ने बताया कि दुष्कर्म के बाद आरोपियों ने उसके बाल काटे फिर उसे जूतों की माला पहनाकर सड़कों पर घुमाया गया। इस दौरान स्थानीय लोगों ने इस घटना को रोकने के बजाय आरोपियों का उत्साह बढ़ाया।

पुलिस से मिली ताजा जानकारी के अनुसार पीड़िता शाहदरा के ही कस्तूरबा नगर इलाके की रहने वाली है। उसकी दोस्ती कुछ साल पहले 12-13 साल के एक लड़के से हो गई। धीरे-धीरे उनकी दोस्ती आगे बढ़ी तो परिवारवालों को इसकी खबर हो गई। पीड़िता जब 16 वर्ष की थी तो उसके घरवालों ने उसकी शादी कहीं और करा दी। हालांकि इसके बाद भी दोनों का मिलना-जुलना जारी रहा। अब पीड़िता को एक बच्चा भी है।

बीते वर्ष पीड़िता ने उक्त लड़के से कह दिया था कि अब वह उससे नहीं मिल सकती। इसके कुछ ही दिन बाद नवंबर माह में उस लड़के(16) ने ट्रेन के आगे कूदकर जान दे दी। उसकी मौत के बाद से ही लड़के का परिवार पीड़िता को बेटे की मौत का जिम्मेदार मान रहा था। परिवार तब से ही पीड़िता को अलग-अलग तरह से परेशान कर रहा था।

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने इस मामले का संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी किया है। स्वाति ने ट्वीट किया, कस्तूरबा नगर में 20 साल की लड़की का अवैध शराब बेचने वालों द्वारा गैंगरेप किया गया, उसे गंजा कर, चप्पल की माला पहना पूरे इलाके में मुंह काला करके घुमाया। मैं दिल्ली पुलिस को नोटिस जारी कर रही हूं। सब अपराधी आदमी औरतों को अरेस्ट किया जाए और लड़की और उसके परिवार को सुरक्षा दी जाए।

इस मामले की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी निंदा की है। उन्होंने स्वाति मालीवाल के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा, ‘ये बेहद शर्मनाक है। अपराधियों की इतनी हिम्मत हो कैसे गई? केंद्रीय गृहमंत्री जी और उपराज्यपाल जी से मैं आग्रह करता हूं कि पुलिस को सख्त एक्शन लेने के निर्देश दें, कानून व्यवस्था पर ध्यान दें। दिल्लीवासी इस तरह के जघन्य अपराध और अपराधियों को किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं करेंगे।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

एनटीपीसी परीक्षा के पहले चरण के रिज़ल्ट से उत्तर प्रदेश – बिहार के छात्र नाराज़ है. अब रेलवे ने पाँच सदस्यीय समिति का गठन किया

रेलवे भर्ती बोर्ड ने ग़ैर-तकनीकी लोकप्रिय श्रेणियों की आरआरबी एनटीपीसी परीक्षा के पहले चरण के रिज़ल्ट से उत्तर प्रदेश – बिहार के छात्र नाराज़ है. अब रेलवे ने पाँच सदस्यीय समिति का गठन किया है, जो आरआरबी -एनटीपीसी (RRB NTPC) और लेवल 7 की परीक्षा में पास हुए और फ़ेल हुए छात्रों से बात कर, अपनी रिपोर्ट मंत्रालय को सौंपेगा. ये जाँच पहले चरण के रिज़ल्ट तैयार करने के तरीकों के बारे में होगी. हालांकि ये साफ़ कहा गया है कि इस परीक्षा में पास छात्रों की लिस्ट में कोई बदलाव नहीं होगा.* *इसके अलावा लेवल 7 की परीक्षा में पहले चरण के नतीजों के बाद दूसरे चरण की परीक्षा पर भी कमेटी अपना सुझाव देगी. कमेटी की रिपोर्ट आने तक 15 फरवरी 2022 को होने वाली दूसरे चरण की परीक्षा और 23 फरवरी 2022 को होने वाली परीक्षा की तारीख़ आगे बढ़ा दी गई है. पूरे मामले पर रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

रेलवे की एनटीपीसी परीक्षा में धांधली पर बिफरे छात्र, दिल्ली-हावड़ा रेल ट्रैक जाम कर किया हंगामा

रेलवे की एनटीपीसी परीक्षा में धांधली का आरोप लगाते हुए बिफरे छात्रों ने बिहार के अलग-अलग जिलों में जमकर हंगामा किया। दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन पर बक्सर और बिहार शरीफ में छात्रों के हुजूम ने रेलवे ट्रैक जाम कर हंगामा किया तो मुजफ्फरपुर में गोंदिया एक्सप्रेस को रोक दिया। इसके बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागने के साथ लाठीचार्ज कर उन्हें खदेड़ दिया।

मंगलवार सुबह छात्रों ने बक्सर रेलवे स्टेशन पर ट्रैक जाम कर केंद्र के खिलाफ नारेबाजी की। इससे पटना-वाराणसी रेल खंड पर ट्रेनों की आवाजाही ठप हो गई। दो ट्रेनें स्टेशन पर खड़ी रहीं। इटाढ़ी गुमटी पर भी एक ट्रेन खड़ी थी। बिहार शरीफ स्टेशन पर छात्रों का हुजूम ट्रैक पर खड़ा हो गया। इससे दिल्ली जाने वाली श्रमजीवी एक्सप्रेस डेढ़ घंटे तक आउटर सिग्नल पर खड़ी रही।

दिल्ली-हावड़ा मेन लाइन पर सफर कर रहे यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा। ट्रैक पर जगह-जगह ट्रेनें खड़ी हो गईं। कई ट्रेनों का रूट बदला गया तो कई का परिचालन घंटों बाद हुआ। बिहार और रेलवे पुलिस ने छात्रों को समझाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रही। इसके बाद हंगामा कर रहे छात्रों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और लाठियां भांजीं।

इसमें कई छात्र घायल हो गए। उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया है। छात्रों के आंदोलन को बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी राजद का भी समर्थन मिल रहा है। उग्र छात्रों ने आरा में एक पैसेंजर ट्रेन को आग लगा दी और पुलिस पर पथराव किया। एक अधिकारी ने बताया कि वीडियो रिकॉर्ड किए गए हैं और आरोपी प्रदर्शनकारियों को जांच के बाद गिरफ्तार किया जाएगा।

उधर रेल मंत्रालय ने इस घटनाक्रम को लेकर कहा है कि रेलवे नौकरी के इच्छुक उम्मीदवारों को रेलवे ट्रैक पर विरोध करने, ट्रेन संचालन में व्यवधान और रेलवे संपत्तियों को नुकसान पहुंचाने जैसी गैरकानूनी गतिविधियों में लिप्त पाए जाने पर रेलवे की नौकरी प्राप्त करने से आजीवन रोक का सामना करना पड़ सकता है।

रेलवे की एनटीपीसी परीक्षा में अनियमितता का आरोप, छात्रों ने किया बड़ा बवाल, कई ट्रेनों के पहिये थमे.

छात्रों ने आरोप लगाया है कि रेलवे ग्रुप डी की परीक्षा में जो बदलाव किया गया है, वह सही नहीं है। छात्रों ने बताया कि फरवरी 2019 में उन्होंने फॉर्म भरा था। रेलवे की तरफ से सितंबर 2019 में परीक्षा लेने की बात भी कही गई थी, लेकिन तय समय पर परीक्षा नहीं हुई। तब डिपार्टमेंट ने दिसंबर 2021 में आश्वस्त किया था कि सीबीटी की परीक्षा 23 फरवरी 2022 से शुरू होगी। अब अचानक रेलवे ने सोमवार को नोटिस जारी कर कहा है कि ग्रुप डी की परीक्षा एक नहीं, बल्कि दो एग्जाम के तहत ली जाएंगी। छात्रों ने कहा कि यह फैसला छात्रों के हित में नहीं है। उनका कहना है कि छात्र एक परीक्षा की तैयारी कर रहे थे, लेकिन अब इस फैसले से उन्हें परेशानी झेलनी पड़ेगी। छात्रों ने यह भी आरोप लगाया कि एग्जाम में पहले से ही देरी हो गई है और अब ऐसे में दो परीक्षा आयोजित होने से दो-तीन साल और लग जाएंगे।

Categories
देश विदेश मनोरंजन लखनऊ

हैलो, पुलिस कंट्रोल रूम: गर्लफ्रेंड फोन नहीं उठा रही, प्लीज बात करवा दो, मजाकिया कॉल बढ़ा रहीं सिरदर्द

हैलो, पुलिस कंट्रोल रूम…सर, गर्लफ्रेंड फोन नहीं उठा रही है, प्लीज उसके घर जाकर जरा बता करवा दीजिए। हैलो डायल 112…मैं सलमान खान से शादी करना चाहती हूं, शादी करवा दो। पुलिस वाले भइया, मेरी बीबी लड़ाई करके मायके चली गई है, जरा कहला दो कि मोबाइल पर बात कर ले। अरे, मेरा कुत्ता खो गया है, जरा पता करा दीजिए।

डायल 112 पुलिस कंट्रोल में आ रहीं ऐसी कॉल पुलिस के लिए सिरदर्द बनी हुई हैं। इन पर कार्रवाई न होने से पुलिस कभी हंसकर तो कभी गुस्से में ऐसे लोगों बार-बार समझा रही, लेकिन कॉल करने वाले भला कहां मानने वाले हैं। मजाक-मजाक में रोज आठ-दस ऐसी कॉल कंट्रोल रूम में पहुंच रही हैं।

पुलिस का कहना है कि फर्जी कॉल के साथ-साथ इस तरह की कॉल विभाग के लिए कई बार संकट पैदा कर देती हैं। ऐसे लोगों की कॉल के कारण डायल 112 की लाइन बिजी हो जाती है और ऐसे में आपातकाल की स्थिति में कॉल करने वालों को दिक्कत होती है। ऐसी कॉल की संख्या महीने में अक्सर 100 से अधिक रहती है।

डॉयल 112 नंबर इमरजेंसी सेवाओं व आपातकाल की स्थिति में पुलिस को सूचना देने के लिए सबसे बेहतरीन सुविधा है। संकट के समय कोई भी व्यक्ति अपने फोन से 112 नंबर डायल करके यहां इमरजेंसी सेवा का लाभ ले सकता है। झांसी में भी पुलिस लाइन में 112 का कंट्रोल रूम है। आपात की स्थिति में 112 नंबर पर कॉल करने वाले हर व्यक्ति की समस्या या सूचना को संबंधित थाने, विभागों व अधिकारी तक तुरंत पहुंचाया जाता है।

कई बार आती हैं ऐसी मजाकिया कॉल

-लड़की के घरवाले शादी के लिए नहीं मान रहे। मेरी शादी कैसे होगी।
-पड़ोसी घर के बाहर कूड़ा डाल देते हैं, सफाई वाले गली में नहीं आ रहे, बुलवा देंगे क्या।
-अरे, कोई बात नहीं भाई साहब, बच्चा मोबाइल गेम खेल रहा था, उसी ने कॉल कर दी।
-पत्नी बात नहीं मानती है। क्या करूं बहुत परेशान हूं।
-एक लड़की से फ्रेंडशिप करनी है कैसे कहूं।

कई बार ऐसी फर्जी कॉल बन रहीं परेशानी

-घर में आग लग गई है, पांच लोग फंसे हैं, तुरंत फायर ब्रिगेड और पुलिस भेज दो।
-चौराहे पर फायरिंग हो रही है, एक आदमी को पांच गोली मार दी, जल्दी से आ जाइए।
-पड़ोस में झगड़ा हो गया है, पथराव हो रहा, कई घायल हो गए हैं।
-पत्नी मायके में रह रही है, ससुराल वाले गाली दे रहे हैं, पत्नी भी नहीं आ रही है।

पुलिस कंट्रोल रूम में बार-बार मजाकिया और फर्जी कॉल करने वालों को पुलिस बताती है कि यह इमरजेंसी सेवा है। झूठी कॉल करने पर आप पर कार्रवाई भी हो सकती है। ऐसे में कॉल करने वाले कुछ लोग तो सॉरी बोलकर मान जाते हैं लेकिन कई ऐसे भी हैं जो कभी मानते ही नहीं, ऐसे लोग बार-बार कॉल करते हैं और पुलिस परेशान होती है। कंट्रोल रूम की मानें तो जो लोग बार-बार कॉल करते हैं उनका नंबर ट्रेस करके उन्हें हिदायत दी जाती है। कंट्रोल रूम की मानें तो ऐसे कई लोग इतनी बार मजाकिया कॉल करते हैं कि पुलिस वालों को अब उनके नाम भी याद हो गए हैं।

कंट्रोल रूम से कई फर्जी कॉल आती हैं। पुलिस मौके पर जाती है तो मामला झूठ निकलता है। कई बार इसमें कार्रवाई भी की जाती है। ऐसी कॉल से पुलिस परेशान होती है। 112 नंबर आपातकालीन सेवा है। लोग इस पर झूठी सूचनाएं न दें।
नैपाल सिंह, एसपी ग्रामीण

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

देश में आज फिर से तीन लाख से अधिक मामले, 525 लोगों की मौत, सक्रिय मरीजों ने बढ़ाई चिंता

कोरोना की बेकाबू रफ्तार थमने का नाम नहीं ले रही है। स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी रविवार (23 जनवरी) के आंकड़े के अनुसार देश में बीते 24 घंटे में 3 लाख, 33 हजार 533(3,33,533) नए मामले सामने आए हैं जो कि शनिवार की तुलना में 4,171 कम हैं। वहीं बीते 24 घंटे में 525 लोगों की कोरोना से मौत हुई है। सबसे अधिक चिंता करने वाली बात यह है कि देश में अब भी 21 लाख से अधिक लोग (21,87,205 ) संक्रमित हैं। हालांकि इस दौरान 2 लाख, 59 हजार 168( 2,59,168) लोग स्वस्थ भी हो गए। देश में दैनिक पॉजिटिविटी रेट बढ़कर अब 17.78 फीसदी हो गई है। देश में एक्टिव केस कुल केस के 5.57 फीसदी हैं। वहीं, साप्ताहिक संक्रमण दर 16.87 फीसदी है।

Categories
देश विदेश लाइव अपडेट

चुनाव के लिए तैयार हो रहे थे अवैध हथियार, कई राज्यों में होने से थे सप्लाई, असलहों के साथ तीन आरोपी दबोचे

मुजफ्फरनगर में कोतवाली पुलिस ने बड़कली मोड पर संचालित अवैध हथियार बनाने की फैक्टरी का भंडाफोड़ किया है। बताया गया कि कई राज्यों के विधानसभा चुनाव में सप्लाई के लिए हथियार तैयार किए जा रहे थे।
एसएसपी अभिषेक यादव ने बताया कि बड़कली कट के पास आम के बाग में हथियार बनाए जा रहे थे। पुलिस ने छापा मारकर तीन आरोपियों को पकड़ा है। मौके से 131 तमंचे, पौनिया, बंदूक बरामद हुई है।

आरोपी बुढ़ाना मोड निवासी राजेश, किदवईनगर निवासी सरफराज और खालापार निवासी शाहिद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और पंजाब में हथियारों की डिमांड आ रही थी।